क्रिकेट जगत मे टी20 आई है तबसे टेस्ट मैच का महत्व इतना खास नहीं रहा है। क्यू की टेस्ट एक एसा क्रिकेट का प्रारूप है।

जिसमे बेल्लबाजी की परीक्षा ली जाती है। जिस बल्लेबाज मे धीरज और धैर्य होता है वह बल्लेबाज टेस्ट मैच के लिए सर्वोतम बल्लेबाज होता है।

टेस्ट मैच मे बोलर का कम थोड़ा सा कठिन है। टेस्ट मैच मे बोलर को थकान महसूस होती है एसे ही टेस्ट 5 दिन तक खेली जाती है।

पहले नंबर पर आते है अनिल कुंबले, उनका जन्म 17, ओक्टोबर 1970 मे बेंगलुरु ने हुआ था। पूर्व भारतीय प्लेयर अनिल कुंबले ने भारत के लिये सबसे विकेट लेने मे सबसे आगे रहे है।

अनिल कुंबले भारत के लिए अपनी बोलिंग से भारतीय टीम को और भारतीय क्रिकेट प्रेमी को अपनी गेंदबाजी से सबको प्रभावित किया है।

रवि अश्विन का जन्म 17, सप्टेम्बर 1986 मे चेन्नई मे हुआ था। भारत के लिए हाली मे क्रिकेट खेलते है। रवि अश्विन ने भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले मे दूसरे नंबर पर आते है।

वर्तमान समय के भारतीय ऑफ स्पिनर अपनी गेंदबाजी के रूप मे अपने गेंदकों टर्न करने के मामले मे सबसे ज्यादा गेंद को घुमाते है।

कपिल देव का जन्म 6, जनवरी 1959 मे चंडीगढ़ मे हुआ था। पूर्व भारतीय कैप्टन कपिल देव भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने मे तीसरे नंबर पर आते है।

कपिल देव ने पाकिस्तान के खिलाफ साल 1978 मे अपना पहला टेस्ट डेब्यु मैच खेला था। कपिल देव ने 1983 मे इंडिया को वर्ल्ड कप ट्रॉफी जीताने वाला भारत का पहला कैप्टन बना था।

हरभजन सिंह का जन्म 3, जुलाई 1980 मे जालंधर, पंजाब मे हुआ था। भारत के पूर्व ऑफ स्पिनर खिलाड़ी हरभजन सिंह भारत के लिए टेस्ट मैच मे सबसे ज्यादा विकेट लेने मे चौथे नंबर पर आते है।

हरभजन सिंह ने 18 साल तक अपने टेस्ट करियर मे खेले। हरभजन सिंह भारत के लिये 400 विकेट लेने वाले इंडिया के पहले ऑफ स्पिनर है।

ईशांत शर्मा का जन्म 2, सप्टेम्बर 1988 मे दिल्ली मे हुआ था। भारतीय खिलाड़ी ईशांत शर्मा टीम इंडिया के लिये सबसे ज्यादा विकेट लेने मे पांचवे नंबर पर आते है।