हॉकी विश्व कप शुक्रवार से भुवनेश्वर में शुरू हो रहा है।यह टूर्नामेंट का 15वां संस्करण है। अर्जेंटीना और दक्षिण अफ्रीका के बीच पहला मैच कलिंगा स्टेडियम में दोपहर 1 बजे से खेला जाएगा।

दूसरी ओर, भारतीय टीम राउरकेला के बिरसा मुंडा स्टेडियम में शाम 7:00 बजे से स्पेन के खिलाफ मैच की शुरुआत करेगी। गुरुवार रात से ही स्टेडियम के बाहर भीड़ काफी जोश में थी।

सबसे पहले चलते हैं... राउरकेला, जहां ओडिशा सरकार ने इस आयोजन के लिए एक नया अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम बनाया है। आइए... जानते हैं इस स्टेडियम की खासियत।

बिरसा मुंडा स्टेडियम को बनने में 15 महीने से भी कम समय लगा। 20 हजार दर्शकों की क्षमता वाले इस स्टेडियम में 6 अभ्यास टर्फ हैं।

इतना ही नहीं, स्टेडियम में टीमों के लिए आवास, जिम, स्पोर्ट्स मेडिसिन जैसी सुविधाएं भी हैं। और लोग उत्साहित है मैच को लेके।

हैड टु हेड: भारत और स्पेन के बीच 1948 से हॉकी मैच खेला जा रहा है। 1973 तक भारत ने 4 में से 3 मैचों में स्पेन को हराया और एक ड्रॉ रहा, लेकिन 1973 के बाद स्पेन ने जोरदार वापसी की।

1978 से खेले गए 26 मैचों में से 10 मैच भारत के पक्ष में गए हैं। जबकि स्पेन ने 11 जीते हैं। इस बीच, दोनों टीमों द्वारा खेले गए मैचों में से 5 मैच ड्रॉ रहे हैं।

कुल मिलाकर देखा जाए तो दोनों टीमें अंतरराष्ट्रीय मंच पर 30 बार एक-दूसरे का सामना कर चुकी हैं। भारत ने 13 और स्पेन ने 11 जीते।

6 मैच ड्रॉ रहे। भारत ने टोक्यो ओलिंपिक में स्पेन को 3-0 से हराया था, जबकि नवंबर 2022 में खेला गया पिछला मैच 2-2 से ड्रॉ रहा था।

वर्ल्ड कप मे दबदबा किसका हॉकी विश्व कप में दोनों टीमों के बीच 6 मैच खेले गए, जिनमें से स्पेन ने 3 और भारत ने 2 जीते। एक मैच ड्रॉ रहा। वर्ल्ड कप में दोनों के बीच आखिरी मैच 2014 में खेला गया था।

जो 1-1 की बराबरी पर छूटा था। पूर्व भारतीय कोच और 1980 के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता टीम को कमजोर और मजबूत दोनों पक्षों के रूप में देखते हैं।